हवाई जहाज के टायर फटते क्यों नहीं है?

दोस्तों आज आपने आसमान में कई सारे हवाई जहाज को उड़ते हुए देखा होगा। लेकिन अपने कभी भी देखा या सुना नहीं होगा कि हवाई जहाज के टायर फट गए हो। जो मोटर साइकिल और कार के टायर होते हैं वह अक्सर फट जाया करते हैं। और अगर आपने अपने बचपन में साइकिल चलाई है, तो अपने साइकिल का टायर तो फटते हुए जरूर देखा होगा।

लेकिन यहाँ सवाल यह आता है कि हवाई जहाज के टायर फटते क्यों नहीं है? शायद आपने किसी भी हवाई जहाज के टायर के फटने की खबर न्यूज़ के माध्यम से नहीं सुनी होगी। वैसे ऐसा होता हो है कि किसी हवाई जहाज के टायर फट जाये। लेकिन ऐसा बहुत ही कम होता है। या यूँ कह लीजिये कि यह तो न के बराबर ही होता है।

हवाई जहाज की रफ़्तार

हवाई जहाज जब जमीन पर उतरता है तब वह 250 या 300 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से उतरता है। और उस दौरान भी हवाई जहाज के टायरों पर कोई असर नहीं होता है। साथ ही इन टायरों को कोई नुक्सान भी नहीं होता है। लेकिन सवाल यही आता है कि हवाई जहाज के टायर फटते क्यों नहीं है? और हवाई जहाज के टायर इतनी रफ़्तार का प्रेशर इतनी आसानी से कैसे झेल लेते हैं।

तो चलिए आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आप सभी को बताते हैं। कि हवाई जहाज के टायरों में ऐसा क्या होता है, जो कि इतना प्रेशर झेलने के बाद भी नहीं फटते हैं। तो चलिए जानते है –

टायर की मजबूती

हवाई जहाज के जो टायर होते हैं वो बेहद मजबूती के साथ बनाए जाते हैं। और इनके टायर इतने ज्यादा मजबूत होते हैं कि केवल एक टायर 38 टन का वजन झेल सकता है। इसके अलावा हवाई जहाज का जो टायर होता है, उससे केवल 500 बार लैंडिंग की जा सकती है। जब किसी हवाई जहाज की टायर का 500 बार इस्तेमाल हो जाता है, तब उस टायर पर फिर से ग्रिप चढ़ाई जाती है। और यह ग्रिप चढ़ाने के बाद टायर को फिर से 500 बार इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

जब यह ग्रिप फिर से 500 बार इस्तेमाल कर ली जाती है, तो उसे उतार कर उसी टायर पर फिरसे नयी ग्रिप चढ़ाई जाती है। और एक हवाई जहाज के टायर पर कुल 7 बार ग्रिप चढ़ाई जाती है। और इसका मतलब यह हुआ कि 7 बार ग्रिप चढ़ाने से उस टायर को साढ़े तीन हजार बार लैंडिंग में उपयोग में लाया जा सकता है। लेकिन इसके बाद इन टायरों को इस्तेमाल में नहीं लाया जा सकता है।

हवाई जहाज में कौन सी हवा भरी जाती है?

हमारी जो गाड़ियां होती हैं, हम उनके टायरों में साधारण हवा भर पाते हैं। लेकिन हवाई जहाज में ऐसा ही होता है। क्यूंकि हवाई जहाज के टायरों में सिर्फ नाइट्रोजन गैस भरी जाती है। और नाइट्रोजन गैस की वजह से बढ़ते तापमान और बदलते प्रेशर में भी टायर नहीं फटते हैं। और आसानी से हवाई जहाज को जमींन पर उतारा जा सकता है।

जो नाइट्रोजन गैस होती है, वह अन्य गैसों की तुलना में सूखी और हलकी होती है। साथ ही इस गैस पर तापमान का भी कुछ खास असर नहीं पड़ता है। और जिन टायरों में यह गैस भरी जाती है, यह बहुत ही कम फटते हैं। और ऐसा इसलिए क्यूंकि उन टायरों में घर्षण होने की वजह से आग लगने के आसार बहुत कम होते हैं। और हवाई जहाज के टायरों में यह जो नाइट्रोजन गैस भरी जाती है, वह ऑक्सीजन के साथ कभी रियेक्ट नहीं करती है। और इसीलिए तेज़ रफ़्तार के साथ जमीन पर उतारते हुए हवाई जहाज के टायर घर्षण के बावजूद गर्म होकर नहीं फटते हैं।

हवाई जहाज में कितनी हवा भरी जाती है?

इसके अलावा हवाई जहाज में किसी साधारण टायर के अलावा 6 गुना ज्यादा हवा भरी जाती है। यानि हवाई जहाज के टायर में कुल 200 पीएसआई तक हवा भरी जाती है। और इस वजह से जितना ज्यादा प्रेशर होता है, वह टायर उतना ही मजबूत होता है। तो हवाज जहाज के टायर में भरी जाने वाली नाइट्रोजन गैस ही एक कारण है, जिस वजह से हवाई जहाज के टायर नहीं फटते हैं। इसके अलावा हवाई जहाज के टायर होते हैं, वह बेहद खास तरीके से डिज़ाइन किये जाते हैं।

टायर का डिज़ाइन

अगर आप देखेंगे कि हमारी गाड़ियों के टायर होते हैं, उनमे ब्लॉक डिज़ाइन की ग्रिप होती है। जबकि हवाई जहाज के टायर में ग्रुप डिज़ाइन की ग्रिप होती है। तो इस ग्रिप से होता यह है कि जब यह टायर बारिश के मौसम में पूरी तरह से गीले हो जाते हैं। तो इस ग्रुप डिज़ाइन वाले टायर की मदद से हवाई जहाज रनवे पर भी आसानी से लैंडिंग कर लेता है। हवाई जहाज के टायर एक खास सिंथेटिक रबर कंपाउंड्स, नायलॉन और अलग अलग फैब्रिक से मिलकर बनाया जाता है। और साथ ही इन्हे एल्युमीनियम और स्टील से सुदृढ़ किया जाता है।

कुल मिला कर कहा जाये तो, इसके टायर को बेहद खास तरीके से बनाया जाता है। साथ ही इन्हे बनाने में बेहद कमल की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है। और इसी वजह से हवाई जहाज के टायर इतने भरी भरकम हवाई जहाज का वजन भी आसानी से झेल लेते हैं। तो अब आप सभी को समझ आ ही गया होगा कि हवाई जाहज के टायर फटते क्यों नहीं है?


जरूर पढ़ें: क्या सौरमंडल में दो सूरज हैं?

Leave a Comment